NREGA Full Form – महात्मा गांधी नरेगा एक्ट की संपूर्ण जानकारी 2024

NREGA भारत के बेरोजगारों के लिए एक महत्वपूर्ण योजना है। जिससे लाखों, करोड़ों लोगों को कई सालों से सहायता मिल रही है रोजगार प्रदान करवा कर। इस योजना के अंतर्गत जो भी व्यक्ति इस योजना के अंदर आता है उसे साल में कम से कम 100 दिन का रोजगार मिलता है। जिससे भारत के गरीब बेरोजगारी की सहायता होती है और बहुत से फायदे भी मिलते हैं। हम इस पोस्ट में पूरी जानकारी लेंगे इस योजना के बारे में। और अगर आप NREGA, MGNREGA का पूर्ण रूप जानना चाहते हैं तो वो भी हम इस पोस्ट में जानेंगे। तो चलिए बिना देर किए शुरू करते हैं।

MGNREGA / NREGA Full Form

NREGA का पूरा नाम होता है ‘National Rural Guarantee Act’ और MGNREGA का पूरा नाम होता है ‘Mahatma Gandhi National Rural Guarantee Act’। 2009 में, 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के दिन NREGA को MGNREGA रखा गया था, ताकि इस योजना के नाम से महात्मा गांधीजी हमारी यादों में बसे रहें।

NREGA क्या है?

NREGA या फिर MGNREGA एक योजना है जिसे साल 2006 से शुरू किया गया था, जो गरीब बेरोजगार लोगों को विश्वास दिलाती है, साल में कम से कम 100 दिन रोजगार प्रदान करके।

इसको कुछ साल बाद गांधी जयंती के दिन, 2 अक्टूबर को NREGA से बदलकर MGNREGA कर दिया गया था, गांधीजी को सम्मान देने हेतु। इस योजना का हिस्सा बनने के लिए कुछ पात्रता मानदंड भी हैं जिस क्राइटेरिया के अंदर व्यक्ति को होना जरुरी है अगर इस योजना का हिस्सा बनना है। जो व्यक्ति या लोग पात्रता मानदंड में आते हैं, वो इस योजना का हिस्सा बन सकते हैं। चलिए आगे बढ़ते हैं और पात्रता मानदंड जानते हैं इस योजना का हिस्सा बनने का। 

NREGA योजना के Eligibility Criteria

इस योजना का हिस्सा बनने के कुछ पात्रता मानदंड हैं जिनमें व्यक्ति का होना जरूरी है। आप नीचे दिए गए पॉइंट्स को समझ सकते हैं अगर आपको पात्रता मानदंड जानना है।

  • योजना का हिस्सा बनने के लिए आपको भारत का नागरिक होना आवश्यक है।
  • योजना का हिस्सा बनने के इच्छुक व्यक्ति को 18 साल का होना चाहिए।
  • जो व्यक्ति इस योजना का हिस्सा बनने के इच्छुक है, वह अकुशल कार्य करने के लिए तैयार हैं, केवल वही इस योजना में शामिल हो सकते हैं।

ये कुछ पात्रता मानदंड के पॉइंट्स हैं जो आपको ध्यान में रखने हैं अगर आप इस योजना का हिस्सा बनने जा रहे हैं। और हम आपको याद दिला दें कि अगर आपको नवीनतम पात्रता मानदंड देखना है तो हमेशा आधिकारिक पोर्टल पर ही देखें।

NREGA योजना के उद्देश्य

NREGA योजना के बहुत से मुख्य उद्देश्य हैं जो आम बेरोजगारों के हित में हैं। हम आपको विस्तार से समझाते हैं कि इस योजना के मुख्य उद्देश्य क्या हैं।

  • रोजगार प्रदान करना

इस योजना का सबसे पहला, सबसे बड़ा और मुख्य उद्देश्य है कि बेरोजगार लोगों को रोजगार मिले। इस योजना के अनुसार बेरोजगार व्यक्ति जो इस योजना का हिस्सा है, उसको साल में कम से कम 100 दिनों का रोजगार मिले। और अगर सरकार 100 दिनों का रोजगार भी प्रदान नहीं कर पाती है तो उन लोगों को सालाना कुछ राशि प्रदान करें। इस योजना के अंतर्गत लाखों करोड़ों लोगों को रोजगार मिला है।

  • गरीब, बेरोजगारों की मदद:

इस योजना के अंतर्गत कई गरीब बेरोजगार लोगों को मदद मिली है। भलाई फिर वो मदद पैसों को लेकर हो, रोजगार को लेकर हो या फिर सरकार के साथ को लेकर हो। इससे गरीब बेरोजगारों को एक विश्वास का हाथ मिल जाता है और वे निचले स्तर से एक स्टेप उपर आ पाते हैं।

  • लोगों का सरकार पर विश्वास:

NREGA योजना से लोगों का सरकार पर विश्वास बढ़ता है, खासकर उन लोगों का जिनको एक विश्वास की जरूरत है कि कोई तो होगा जो उनके विकास के लिए भी मेहनत करेगा। NREGA योजना सबूत देती है कि सरकार हर बेरोजगार गरीब व्यक्ति का हाथ पकड़कर साथ चलने को तैयार है। इस योजना से लोगों के मन में सरकार के लिए को नई विश्वास की गाँठ बंधती है।

  • भारत का विकास:

हर भारतीय व्यक्ति, भारत के विकास को दर्शाता है। NREGA एक ऐसी स्कीम है जो भारत के बहुत बड़े समूह को समझती है। इससे जैसे बेरोजगारी कम होती है, भारत का विकास प्रदर्शित होता है। NREGA योजना की कामयाबी हमारे देश के विकास को साफ शब्दों में दर्शाती है। हमें गर्व है कि इसी योजनाओं के कारण बेरोजगारी कम हो रही है और गरीब बेरोजगार भी बढ़ते भारत में सभी लोगों से कंधे से कंधे लगाकर चल पा रहे हैं।

ये थे कुछ मुख्य उद्देश्य इस NREGA योजना के। ऐसे और बहुत से उद्देश्य हैं जिनके चलते यह योजना को शुरू किया गया था। चलिए पोस्ट में आगे बढ़ते हैं।

महात्मा गांधी NREGA के अंतर्गत कवरेज

MGNREGA योजना के अंतर्गत बहुत से रोजगार हैं जो गरीब बेरोजगार लोगों को प्रदान किए जा रहे हैं। इस योजना के अंतर्गत लोग बहुत से रोजगारों का चयन कर सकते हैं या फिर उन्हें यह रोजगार मिल सकता है। नीचे एक सूची दी गई है, जो इस योजना के अंतर्गत रोजगार प्रदान किया जा सकता है।

  1. खेती और उससे संबंधित रोजगार
  2. ग्रामीण स्वच्छता संबंधित कार्य
  3. वॉटरशेड संबंधित रोजगार
  4. सिंचाई और बाढ़ प्रबंधन प्रणाली संबंधित रोजगार
  5. जानवरों संबंधित कार्य
  6. मत्स्य पालन और तटीय क्षेत्र संबंधित रोजगार
  7. ग्रामीण पेयजल संबंधित रोजगार
  8. आंगनवाड़ी निर्माण संबंधित रोजगार

ये हैं कुछ प्रकार जिनसे संबंधित कार्य या रोजगार आप पा सकते हैं NREGA योजना के अंतर्गत। अगर आप इन कार्यों को करने में सक्षम या फिर इच्छुक हैं और आप पात्रता में आते हैं तो आप इस योजना का हिस्सा बन सकते हैं।

चलिए, पोस्ट में आगे बढ़ते हैं और कुछ मुख्य फायदे समझते हैं इस योजना के।

NREGA के मुख्य फायदे

MGNREGA योजना के मुख्य फायदे कुछ इस प्रकार हैं:

  • बेरोजगारी कमी का संकेतक:

NREGA योजना ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगारी को कम करती है और ग्रामीणों को सशक्त बनाती है। इससे सरकार के पास एक अप-टू-डेट डेटा भी रहता है, जिससे वो समझ पाते हैं कि पहले बेरोजगारी का स्तर क्या था और अब क्या है।

  • रोजगार का अवसर:

यह योजना बेरोजगारों को रोजगार प्राप्त करने का अवसर देती है, गांवों में काम करके गरीब लोगों को 100 दिनों तक रोजगार का वादा करती है। इससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होता है।

  • ग्रामीण विकास:

इस योजना के जरिए ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों का बहुत विकास हुआ है। जो लोग पहले घर में बैठे रहते थे, जिनके पास रोजगार नहीं था, अब उनके पास भी रोजगार है। वे भी अपने पैरों पर खड़े हैं जिससे सीधे तौर पर ग्रामीण विकास होता है।

  • सामान्य वेतन:

इस योजना में जितने भी बेरोजगार आते हैं, उन सभी को एक समान वेतन मिलता है। यानी किसी भी व्यक्ति के साथ भेदभाव होने का सवाल ही नहीं है। सभी को एक जैसी समानता मिलती है। NREGA में काम करने वाले सभी लोगों को सामान्य वेतन मिलता है, जो समाज में समानता और न्याय का बोध कराता है। इससे भारत के लोगों में एकता और सरकार की एकता बरकरार रखने की कोशिश नजर आती है।

लगता है कि हम अब बहुत कुछ जान चुके हैं NREGA योजना के बारे में।

निष्कर्ष

मैं आशा करता हूँ कि आपको मेरी प्रदान की गई जानकारी पसंद आई होगी और आप इस जानकारी को पूर्ण रूप से समझ गए होंगे। और मैं आशा करता हूँ यह जानकारी आपकी कभी न कभी सहायता जरूर करेगी। NREGA एक ऐसी योजना है जो हर बेरोजगार गरीब ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों का हाथ पकड़कर उपर उठाने में सहायता करती है। हमें काफी अच्छा लगता है जब सरकार ऐसी योजनाओं को संचालित करती है।

अंत में केवल इतना कहना चाहूँगा कि मुझे गर्व है कि सरकार हमारे देश के लोगों की मदद करती है और बेरोजगार लोगों की मदद करती है। मैं आशा करता हूँ कि यह योजना सालों-साल इसी तरह चलती रहे और लोगों की सहायता करती रहे।

धन्यवाद!

Leave a Comment